धर्मो रक्षति रक्षितः
रक्षित किया हुआ धर्म मनुष्य की रक्षा करता है।
:- मनुस्मृति


जब सनातन धर्म का क्षरण होता है, तब राष्ट्र का क्षरण होता है। :- महर्षि अरविन्द

बहवो यत्र नेतार:, सर्वे पण्डित मानिना:। सर्वे मह्त्व मिच्छंति, तद् राष्ट्र भव सीदति ।।

जिस राष्ट्र में नेतृ्त्व करने वाले बहुत हो जाते हैं एवं अपने को बुद्धिमान समझते हैं तथा प्रत्येक श्रेष्ठ पद की आकांक्षा रखता है, वह राष्ट्र नष्ट हो जाता है.

Tuesday, August 24, 2010

बारिश वाली राखी

रक्षाबंधन को पूनम बहुत उत्साहित रहती थी. राखी के दिन वह मायके जाकर भैया को राखी जरूर बांधती थी. अपनों के बीच पहुँच कर राखी की खुशियाँ कई गुना बढ़ जाती हैं. आज भी सुबह पूनम ने घर के सारे काम निपटा लिए थे और मायके जाने की तैयारी कर ली थी. लेकिन ईश्वर को शायद कुछ और मंजूर था. झमाझम बारिश पूनम जैसी कितनी ही बहनों के अरमानो पर पानी फेर रही थी.
बारिश की बूंदे और पूनम के आंसू रुकने का नाम ही नहीं ले रहे थे. बड़े चाव से उसने खोये के पेड़े बनाये थे. वह जानती थी कि भैया को उसके हाथ के बने पेड़े बहुत अच्छे लगते थे. भैया हरदम कहते की मेरी बहना जब अपने घर चली जाएगी तो मुझे पेड़ों के लिए तरसना पड़ेगा. उसकी विदाई पर भी भैया फूट फूट कर रोये थे और कहते जा रहे थे कि अब मुझे पेड़े कौन खिलायेगा. पूनम ने उसी दिन संकल्प ले लिया था कि राखी पर भैया को अपने हाथ से बने पेड़े ही खिलाऊँगी. 
देखते ही देखते शाम होने को आ गयी लेकिन बारिश नहीं रुकी. पति और बच्चे पूनम को ढाढस बंधा रहे थे लेकिन पूनम जानती थी कि अब कोई चमत्कार ही उसकी मंशा पूरी कर सकता था. वह भगवान के सामने जाकर बैठ गयी. चौखट पर आहट से उसकी तन्द्रा टूटी तो देखा कि सर से पांव तक पानी से सराबोर भैया दरवाजे पर खड़े थे.
अगले ही क्षण घर का माहौल बदल गया था वही बारिश के बूंदे भाई बहन के अगाध प्रेम की गवाही दे रहीं थी.

4 comments:

राणा प्रताप सिंह (Rana Pratap Singh) said...

इश्वर सबकी सुनते हैं और सबकी मनोकामना पूर्ण करते हैं|
रक्षाबंधन के पवन पर्व पर ढेर साडी शुभकामनाएं|

http://rp-sara.blogspot.com/2010/08/blog-post_23.html#comment-form

परमजीत सिँह बाली said...

बहुत मार्मिक प्रसंग!

रक्षाबंधन की बधाई\

संगीता पुरी said...

मन में किसी बात की दृढ इच्‍छा हो .. तो वह अवश्‍य पूरी होती है .. रक्षाबंधन की बधाई और शुभकामनाएं !!

निर्झर'नीर said...

रक्षाबंधन की शुभकामनाएं !!